Why Indian Education Are Fails

Why Indian Education System Are Failed in Hindi

Programming Blog

Why Most of the Indian Students Are Fail In Real Practical Life:- Dear students क्या आपको पता है दुनिया मे एक चीज़ ऐसी भी है जिसे न कोई चुरा सकता है, न छीन सकता है, यहाँ तक की खरीद भी नहीं सकता, केवल हासिल कर सकता है, और खर्च कर सकता है, और कमाल की बात ये है की इसे जितना खर्च करो उतना ही improve होता है, बढ़ जाता है – वो है knowledge, ज्ञान।

Why Indian Education System Are Failed in Hindi

डिग्री पाना आसान है साहब, आज दौर मे बहुत आसान है, पैसा है तो खरीद भी सकते हो ।  जब तक हमारे Education System मैं डिग्री Base Approach रहेगा तब तक हमारा देश आगे नही जा सकता है |

क्योकि  हमारे Education सिस्टम मैं theoretical क्लास, attendance और मार्क्स पर स्टूडेंट को फोकस किया जाता है जिसकी वजह से स्टूडेंट की practical skills build नही हो पाती,  ओर जब तक ये system  हमारे स्कूल व  कॉलेज मैं रहेगा तब तक स्टूडेंट केवल मार्क्स ओर 75 % attendance के पीछे भागते रहेंगे |  और इस तरह धीरे-धीरे ये System  हमारे देश मैं real Education को खतम कर देगा |

चलिये फ़्रेंड्स इसको मैं एक example से आपको समझाता हूँ, ओर अगर आप एक स्टूडेंट हैं तो ये आपके  लिए बहुत जरूरी हैं होने वाला|

हमारे देश मे 950 universities , 50000 हजार colleges ओर 3.5 करोड़ Students हैं  जिनमे से हर साल करीब 88 लाख स्टूडेंट पास आउट होते हैं | ओर उन 88 लाख students मैं से केवल 10 % स्टूडेंट्स practical ओर theory  दोनों मैं अच्छे होते हैं जोकि आगे चल कर या तो अपना खुद का startup शुरू करते हैं या फिर किसी Top कंपनी मैं जॉइन हो जाते हैं |

लेकिन सवाल इन 10 %  का नही हैं जोकि आगे चल कर किसी न किसी फील्ड मे कामयाब हो जाते हैं ये सवाल तो उन 90 % स्टूडेंट के लिए हैं जिनके पास आगे चल कर किसी जॉब के लिए भी स्किल्स नही होती हैं ओर वो अपनी बड़ी सी डिग्री के बावजूद बेरोजगार रह जाते हैं | ओर फिर कहते हैं की नौकरी तो हैं नही, पढ़ने का क्या फ़ायदा | ऐसा नहीं है की ये 90 % स्टूडेंट्स बेकार होते है, बुद्धू होते हैं । बस डिग्री पर depend हो कर ये बेरोजगार रह जाते हैं ।

अगर आपके पास स्किल होगी तो आपके पास अच्छे अच्छे ideas भी रहेंगे और इन्ही Ideas को apply करने पर आप अपनी खुद की कंपनी open करोगे ओर फिर दूसरों को नौकरी दोगे |मान लो आपके पास ideas बहुत हैं लेकिन उसे practical मैं कैसे convert करोगे, क्योकि आपके पास तो केवल डिग्री है practical स्किल्स है ही नही,

ये डिग्री बेस्ड Education कोरोना वाइरस जैसी बीमारी से भी खतरनाक है, अगर इसका इलाज़ नहीं किया गया तो बहुत तेज़ी से देश को खोकला करती रहेगी |

 मेरा कहने का मतलब केवल ये है कि आप practical स्किल्स पर फोकस करो डिग्री तो झक मार के पीछे आएगी । ओर अगर डिग्री भी नही तो Google, Yahoo और Microsoft जैसी कंपनी टैलंट base पर जॉब्स दे रही हैं |

बच्चो को ये सिखाया जाना चाहिए की कैसे पढ़े , की किया पढ़े

आज भी हमारे देश मे 100 साल पहले बनाए गए ब्रिटिश education सिस्टम को फॉलो किया जाता हैं लेकिन खुद ब्रिटिश modern  education सिस्टम को फॉलो कर रहे हैं। हमारे देश मैं तो कोई पार्टी, कोई नेता, education सिस्टम पर बात करता ही नही, उनके लिए तो केवल हिन्दू और मुस्लिम करना ही राजनीति का मक़सद है |

Students आपको एक Example देता हु ओर ये example computer science  के आधार पर ले रहा हु |

रितेश अग्रवाल ! आप मे से कितने लोग जानते हैं, चलिये छोड़िए आपने OYO ROOMS , हाँ वो ही वाला, 2013 मे OYO app बनाया, 6 साल बाद 2019 मे Turnover 951 मिलियन $ है, रितेश अग्रवाल 12 पास हैं, आगे डिग्री लेने के लिए admission तो लिया लेकिन बीच मे छोड़ दिया, आज पूरी दुनिया मे फ़ेमस है ।

How To Change Indian Education System

इस समस्या का solution ये होगा कि हम education को केवल डिग्री तक सीमित न रखें, बलिक डिग्री से ज़्यादा Learning पर फोकस करें, क्यूंकी डिग्री या सर्टिफिकेट दिखाकर जॉब तो मिल जाएगी, लेकिन लाइफ को रफ्तार और वजूद skill के आधार पर ही मिलता है-

आमिर खान एक्टर/निर्माता , इन्हे कोन नहीं जानता 12 पास हैं, लेकिन talent और skill के आधार पर Mr. Perfect कहलाते हैं. इनकी दो फिल्म इसी चीज़ को define करती है कि लाइफ मे कुछ भी बड़ा करने के लिए डिग्री कि नहीं skill कि ज़रूरत होती है, “थ्री ईडियट”, और “तारे ज़मीन पर”, अगर आप student है, parents हैं या टीचर हैं तो ये दोनों फिल्मे ज़रूर देखें, बहुत कमाल कि है ।  

तो dear friends आज के बाद केवल सीखने पर ध्यान दें, डिग्री मिले न मिले कोई फरक नहीं पड़ता।  क्योंकि डिग्री नोकरी के लिए ज़रूरी हो सकती है सफलता का आधार नहीं ।

मिसाइल मैन A P J अब्दुल कलाम कहते हैं की

इंतजार करने वाले को सिर्फ उतना ही मिलता हैं जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.